Mumkin hai India

  • Gallery

    पूर्णिया: कोविड-19 संक्रमण को लेकर जिलाधिकारी ने की सदर अस्पताल में समीक्षात्मक बैठक

    2021-05-02

    होम आइसोलेशन में रह रहे संक्रमितों के घर चिकित्सकों की टीम करेगी भ्रमण: ज़िले में चिकित्सकों की कमी को पूरा करने के लिए 24 चिकित्सकों का लिया जाएगा साक्षात्कार: पूर्णिया, 02 मई। वैश्विक महामारी कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को लेकर जिलाधिकारी राहुल कुमार के द्वारा सदर अस्पताल स्थित जिला प्रतिरक्षण कार्यालय के सभागार में समीक्षात्मक बैठक की गयी। जिसमें सिविल सर्जन डॉ एसके वर्मा, डीडीसी मनोज कुमार, अपर समाहर्ता, सदर अनुमंडल पदाधिकारी, डीआईओ डॉ सुरेंद्र दास, यूनिसेफ के अधिकारियों सहित कई अन्य स्वास्थ्य कर्मी मौजूद थे। समीक्षा बैठक के दौरान जिलाधिकारी राहुल कुमार ने बताया जिले में बढ़ते कोरोना संक्रमण को लेकर सदर अस्पताल में 5 वेंटिलेटर तैयार किया गया है। वहीं ट्रॉमा सेंटर में कोरोना संक्रमित मरीज़ों के लिए पहले से ज्यादा बेड तैयार करने को लेकर सिविल सर्जन सहित स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देशित किया गया हैं। -होम आइसोलेशन में रह रहे संक्रमितों के घर चिकित्सकों की टीम करेगी भ्रमण: जिलाधिकारी जिलाधिकारी ने बताया कोविड-19 संक्रमित मरीज़ों को बेहतर उपचार के लिए सदर अस्पताल स्थित ट्रॉमा सेंटर में अलग से और दस बेड लगाने के लिए सिविल सर्जन को कहा गया हैं। वहीं कोविड-19 से संक्रमित मरीजों को होम आइसोलेशन में रखा गया है जिन्हें ससमय मेडिसिन किट उपलब्ध कराया जाना सुनिश्चित किया जाए। जिले के सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के माध्यम से अलग-अलग दस टीम बनायी जाएगी। जिसमें एएनएम व आशा कार्यकर्ताओं को शामिल किया गया है। इन सभी टीम की देखभाल की जिम्मेदारी पीएचसी के चिकित्सकों की होगी और वहीं लोग टीम बनाकर डोर टू डोर भ्रमण करेंगे। ज़िले में ऑक्सीजन सिलेंडर की उपलब्धता को लेकर बताया सदर अस्पताल मे पहले से ही ऑक्सीजन की व्यवस्था की गई है। लेकिन मरीज़ो की संख्या को देखते हुए और भी सिलेंडर की खरीददारी करने का भी दिशा-निर्देश दिया गया है। स्वास्थ्य विभाग की ओर से आठ एंबुलेंस को चलाया जा रहा है। हालांकि एम्बुलेंस की संख्या बढ़ाने के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिया गया हैं। इसके साथ ही एंबुलेंस चालक सहित कई अन्य कर्मी जो एम्बुलेंस में कार्य कर रहे हैं उन सभी कर्मियों को पीपीई किट पहनकर काम करने का निर्देश दिया गया है। ज़िले में भी कोरोना से संबंधित मरीज़ों की जांच 22 घंटे की जा रही है। प्रतिदिन शेष और जांच आरटी-पीसीआर में हो रही है। -ज़िले में चिकित्सकों की कमी को पूरा करने के लिए 24 चिकित्सकों की ली जाएगी साक्षात्कार: डीएम ने कहा जिले में अभी तक 2, 40, 962 कोरोना टीकाकरण किया जा चुका है। जिसमें लगभग 2 लाख से अधिक को पहला डोज दिया गया है जबकिं लगभग 40 हजार को दूसरा डोज दिया गया है। जेल में बंद 45 वर्ष से ऊपर के 124 कैदियों का टीकाकरण किया गया है। कहीं पर रेमडेसिविर की ब्लैक मार्केटिंग नहीं होनी चाहिए। फर्जी बिक्री को रोकने के लिए जिला प्रशासन नजर रखे हुए है। जिला कंट्रोल रूम को वेंटिलेटर एवं मरीज़ो के लिए बनाए गए बेड की अद्यतन स्थिति की पूरी जानकारी होनी चाहिए। 03 मई को 24 चिकित्सकों का इंटरव्यू लिया जाएगा। सभी प्रखंडों में एक-एक तथा जिला में 10 चिकित्सकों को प्रतिनियुक्त किया जाना है। ज़िले में 155 कंटेनमेंट ज़ोन बनाया गया है जबकि नगर निगम क्षेत्र के अंदर 13 कंटेनमेंट बनाये गए है। ज़िले में अभी तक कोरोना संक्रमण से 15 मरीजों की मृत्यु हुई है। इन सभी के परिजनों को अंतिम संस्कार के लिए सरकारी स्तर पर सहायता राशि दी गई है।