Mumkin hai India

  • Gallery

    स्वास्थ्य एवं योग शिविर के चौदहवें दिन संजीवनी पोर्टल, ई-हेल्प रिकॉर्ड, टेली मेडिसिन पर हुई चर्चा

    2021-05-02

    लखनऊ: राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई, महर्षि सूचना प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, लखनऊ, राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय, लखनऊ एवं एम. एल. के. पी. जी. काॅलेज, बलरामपुर एवं मुख्यमंत्री जन कल्याणकारी प्र‌‌चार-प्रसार योजना (योग एवं चिकित्सा प्रकोष्ठ) उत्तर प्रदेश के संयुक्त तत्वाधान में चल रहे २१ दिवसीय ऑनलाइन विशेष स्वास्थ्य एवं योग शिविर के चौदहवें दिन प्रेरणाप्रद व्याख्यान माला के मुख्य अतिथि एवं मुख्य वक्ता प्रो. प्रदीप श्रीवास्तव, कार्यकारी निदेशक, प्रौद्योगिकी सूचना एवं पूर्वानुमान एवं मूल्यांकन परिषद (टाईफैक) भारत सरकार थे। प्रो. श्रीवास्तव ने बेबीनार के सभी प्रतिभागियों को बताया कि भारत सरकार, स्वास्थ्य एवं चिकित्सा के क्षेत्र में तकनीकि का उपयोग किस प्रकार कर रही है एवं सरकार की विभिन्न योजनाओं के विषय में बहुत विस्तृत ढंग से जानकारी दी, जैसे ई - संजीवनी पोर्टल, ई- हेल्प रिकॉर्ड, टेली मेडिसिन। प्रो. श्रीवास्तव ने कोविड २.० के पश्चात भारतीय अर्थव्यवस्था में उद्यमिता के विभिन्न अवसरों की चर्चा की। बेबिनार के विशिष्ट अतिथि श्री डी. एस. चौहान, मुख्य महाप्रबंधक, राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक ने कोविड की चुनौती में ग्रामीण पर्यटन को बढ़ावा मिलने की बात की। श्री चौहान ने कहा कि सदैव बड़ी आपदाओं में कृषि क्षेत्र बहुत सहायक होता है। युवा उद्यमियों को खाद्य प्रसंस्करण, सूक्ष्म वित्त एवं आवश्यक चिकित्सकीय उपकरण के क्षेत्र में अपार संभावनाएं बतायी एवं प्रतिभागियों को बताया कि मास्क, हैण्ड सैनेटाइजर, आक्सीजन एवं विविध चिकित्सकीय उपकरण से सम्बंधित उद्योगों का भविष्य सदैव है, क्योंकि यह सिर्फ कोरोना में ही नहीं बल्कि सभी महामारी में न्यूनतम आवश्यकता है। व्याख्यान माला के मुख्य संयोजक डॉ कीर्ति विक्रम सिंह, सहायक क्षेत्रीय निदेशक, क्षेत्रीय केंद्र, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय ने कार्यक्रम के प्रारंभ में सभी अतिथियों एवं प्रतिभागियों का स्वागत कर बेबिनार के उद्देश्य को बताया। इस अवसर पर डॉ मनोरमा सिंह, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय, प्रो. भानू प्रताप सिंह, महर्षि सूचना प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, लखनऊ, प्रो. अखण्ड प्रताप सिंह, महर्षि सूचना प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, लखनऊ ने अपनी शुभकामनाएं प्रेषित की। श्री सपन अस्थाना, संयोजक सचिव एवं अधिष्ठाता (शैक्षणिक) महर्षि सूचना प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, लखनऊ ने बताया कि इस कोरोना काल में इस प्रकार का प्रेरणाप्रद बेबिनार समाज के लिए बहुत उपयोगी है। डॉ आर. के. पाण्डेय, नोडल आफिसर बलरामपुर, एम. एल. के. पी. जी. काॅलेज, बलरामपुर ने कार्यक्रम के अंत में सभी का आभार एवं धन्यवाद व्यक्त किया। इस अवसर पर श्रीमती दीपा श्रीवास्तव, श्री अंकित श्रीवास्तव, सहित राष्ट्रीय सेवा योजना, उत्तर प्रदेश के विभिन्न कार्यक्रम समन्वयक, कार्यक्रम अधिकारी एवं स्वयंसेवक उपस्थित थे।