Mumkin hai India

  • Gallery

    लखनऊ: भावातीत ध्यान तनाव प्रबंधन का सर्वश्रेष्ठ माध्यम- महर्षि महेश योगी

    2021-04-29

    लखनऊ:राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई, महर्षि सूचना प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, लखनऊ एवं राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय, क्षेत्रीय केंद्र, लखनऊ एवं मुख्यमंत्री जन कल्याणकारी प्र‌‌चार-प्रसार योजना (योग एवं चिकित्सा प्रकोष्ठ) के संयुक्त तत्वाधान में चल रहे २१ दिवसीय ऑनलाइन विशेष स्वास्थ्य एवं योग शिविर के ग्यारहवें दिन के सायं कालीन बेबिनार के मुख्य अतिथि प्रो. करुणेश सक्सेना, निदेशक आई. क्यू. ए. सी. मोहन लाल सुखाड़िया विश्वविद्यालय, उदयपुर, राजस्थान थे। प्रो. सक्सेना ने "तनाव प्रबन्धन एवं कोविड २.०" विषय पर अपना प्रेरणाप्रद व्याख्यान दिया एवं महर्षि महेश योगी जी के भावातीत ध्यान तकनीकि को तनाव प्रबंधन का सर्वश्रेष्ठ माध्यम बताया एवं प्रतिभागियों को भावातीत ध्यान सीखने के लिए प्रेरित भी किया। प्रो. सक्सेना ने पावर प्वाइंट प्रेजेंटेशन द्वारा सभी प्रतिभागियों को तनाव के कारण एवं उनसे बचने के विविध व्यवहारिक पहलुओं को बताया। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे डॉ अंशुमाली शर्मा, विशेष कार्याधिकारी एवं राज्य सम्पर्क अधिकारी, राष्ट्रीय सेवा योजना प्रकोष्ठ, उच्च शिक्षा विभाग, उत्तर प्रदेश शासन ने ईश्वर एवं व्यवस्था में विश्वास को कोविड द्वारा उत्पन्न तनाव से निपटने का एक साधन भी बताया। डॉ मनोरमा सिंह, क्षेत्रीय निदेशक, क्षेत्रीय केंद्र इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय, ने इस प्रेरणाप्रद ऑनलाइन व्याख्यान माला की प्रशंसा भी की एवं कहा कि इस प्रकार के प्रेरणाप्रद व्याख्यान कोविड की चुनौतियों से निपटने में मील का पत्थर साबित होंगे। महर्षि सूचना प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, लखनऊ के कुलपति प्रो भानु प्रताप सिंह एवं कुलसचिव प्रो अखण्ड प्रताप सिंह ने सभी प्रतिभागियों को बधाई प्रेषित की। २१ दिवसीय कार्यक्रम के मुख्य संयोजक डॉ कीर्ति विक्रम सिंह, सहायक क्षेत्रीय निदेशक एवं कार्यक्रम अधिकारी, इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय, लखनऊ ने सभी अतिथियों का स्वागत एवं अभिनन्दन किया। श्री सपन अस्थाना, आयोजक सचिव, अधिष्ठाता (शैक्षणिक) एवं कार्यक्रम अधिकारी, महर्षि सूचना प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, लखनऊ ने जानकारी देते हुए बताया कि इस वर्चुवल प्रेरणाप्रद व्याख्यान की लोकप्रियता विद्यार्थियों एवं अभिभावकों में दिन प्रतिदिन बढ़ रही है। १८ अप्रैल से चल रहे इस वेबिनार में लगभग १२ विभिन्न विषयों पर जो कोविड से जुड़े हैं पर परिचर्चा एवं लगभग एक हजार से ज्यादा प्रतिभागी लाभ ले चुके हैं। यह २१ दिवसीय कार्यक्रम ०८ मई तक चलेगा। इस अवसर पर डॉ दीपा चौहान, श्रीमती दीपा श्रीवास्तव, डॉ अजय कुमार सिंह , डॉ ए.के. मौर्य, डॉ रेनू चौहान, डॉ अंकित श्रीवास्तव, डॉ नीरज जैन समेत विभिन्न राष्ट्रीय सेवा योजना, उत्तर प्रदेश के कार्यक्रम समन्वयक, कार्यक्रम अधिकारी एवं स्वयंसेवक उपस्थित थे।