बिहार में सीएए का विरोध प्रदर्शन करने वाले लोगों पर के खिलाफ एफआईआर दर्ज , 6 लोग गिरफ्तार

पटना, 16 दिसम्बर : नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में रविवार को हुए उग्र प्रदर्शन के सिलसिले में पटना पुलिस ने छह लोगों को हिरासत में लिया और 536 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। इसमें 36 लोगों को नामजद अभियुक्त बनाया गया है।
सीसीटीवी की मदद से पुलिस अन्य लोगों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रही है। इसके साथ उन पुलिस वालों की भी तलाश की जा रही है जिनकी करगील चौक पर ड्यूटी लगाई गई थी लेकिन हंगामा शुरू होने के साथ ही वे फरार हो गए। पटना की एसएसपी गरिमा मलिक ने कहा कि ऐसे पुलिसकर्मियों की पहचान कर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।
रविवार को एनआरसी के खिलाफ विभिन्न संगठनों के कार्यकर्ता और शरारती तत्वों ने उग्र प्रदर्शन करते हुए तीन पुलिस चेक पोस्ट समेत एक दर्जन से ज्यादा गाड़ियों में आग लगा दी थी । स्थिति  नियंत्रित करने  गई पुलिस पर प्रदर्शन कर रहे लोगों ने  पथराव कर दिया था जिसमें करीब एक दर्जन से ज्यादा पुलिसकर्मी घायल हो गए थे। हंगामा इतना बढ़ गया था कि पुलिस को हवाई फायरिंग करनी पड़ी थी, तब जाकर मामला शांत हुआ था। इधर, उन पुलिसकर्मियों की तलाश शुरू कर दी गई है जो हंगामा शुरू होते ही फरार हो गए थे। पटना की एसएसपी गरिमा मलिक ने कहा कि हंगामा शुरू होते ही पुलिस इस पर सख्ती बरतती तो इतना बवाल नहीं मचता। ऐसे पुलिसकर्मियों की  पहचान की जा रही है, जिनकी यहां पर ड्यूटी थी और वे हंगामा शुरू होने पर फरार हो गए थे।
बताते चलें कि पुलिसकर्मियों के भागने के कारण टाउन डीएसपी और गांधी मैदान के थाना प्रभारी को उपद्रवियों ने घेर लिया था, इनपर उन लोगों ने हमला भी किया था, जिसके कारण दोनों पुलिस पदाधिकारी जख्मी हो गए थे। बहरहाल पुलिस इस मामले में सोमवार की सुबह से ही उपद्रवियों को पकड़ने के लिए छापेमारी कर रही है। पुलिस ने अभी तक 6 लोगों को हिरासत में ले लिया है। इनसे पूछताछ चल रही है। पुलिस को अपनी जांच में यह भी पता चला है कि एक राजनीतिक दल के छात्र संगठन के इशारे पर यह सब हुआ है। इसके साथ ही सब्जीबाग और पटना सिटी के कुछ संगठनों के कार्यकर्ताओं ने भाड़े पर उपद्रवियों को बुलाकर हंगामा कराया है। पुलिस इनके खिलाफ साक्ष्य एकत्रित करने का प्रयास कर रही है, साक्ष्य मिलते ही पुलिस उनके खिलाफ कार्रवाई करेगी।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *