वाहन चालक हो जाए सावधान। 1सितम्बर से नये परिवहन कानून होंगे लागू

छपरा नगर: यातायात नियमों का उल्लंघन कर वाहन चलाने वाले चालक हो जाए सावधान। रविवार एक सितम्बर 2019 से नयी ट्रैफिक नियमावली होगी लागू जिसमें नियम विरूद्ध वाहन चालको को अधीक जुर्माने के साथ जेल भी जाना पड़ सकता है। नये कानून में ट्रैफिक नियमावली के तहत जुर्माना 10गुणा बढ़ा दिया गया है तो वही कुछ नये कानून भी जोड़े गये हैं।
क्या है नई नियमावली:
सारण समाहरणालय सभागार मे जिला परिवहन पदाधिकारी की मौजूदगी में जिलाधिकारी सुब्रोत कुमार सेन ने पत्रकारों को संबोधित करते हुए यातायात व्यवस्था को सुचारु व सुरक्षित बनाने के उद्देश्य से यातायात नियमों में कुछ बदलाव करते हुए अब नई नियमावली बनाई गई है जिसमें नाबालिक बच्चे अगर गाड़ी चलाते हुए पकड़े जाते हैं तो उनके अभिभावक को ₹25000 जुर्माना साथ ही अभिभावक को 3 साल की कैद व बच्चें पर भी जुवेनाइल एक्ट के तहत कार्यवाही की जाएगी।
इमरजेंसी वाहन यथा एंबुलेंस फायर ब्रिगेड आदि को रास्ता नहीं देने पर ₹10000 जुर्माना लगेगा वही बिना हेलमेट बिना सीट बेल्ट बांधे पकड़े जाने पर ₹100 की जगह अब ₹1000 जुर्माना भरना पड़ेगा वही परिवहन नियम के उल्लंघन पर जो सबसे कम ₹100 जुर्माना था उसे अब बढ़ाकर ₹500 कर दिया गया है।

बिन्दुवार संक्षिप्त विवरणी :
1. धारा 177 में किसी नियम, आदेश का उल्लंघन जिसमें स्पष्ट शमन का प्रावधान नहीं है जिसमें पूर्व में 100 से ₹300 समन की राशि ली जाती थी वह 1 सितंबर से 500 से 1500 रुपए बढ़ा दी गई हैं। वही धारा 177A में धारा 118 के अधीन बनाये गए यातायात नियम के उल्लंघन पर अब 500 से 1000 रुपये वसुले जायेंगे।

2. धारा 178 बिना टिकट यात्रा करने पर ₹200 की जगह अब ₹500 देय होगा।

3. धारा 179 आज्ञा का उल्लंघन करने पर ₹500 से बढ़ाकर ₹2000कर दिया गया है।

4. धारा 180 जिसमें किसी अयोग्य व्यक्ति को गाड़ी चलाने के लिए देना (धारा 3 व 4 का उल्लंघन) शामिल है जिसमें समन की राशि 500से बढाकर 5000 कर दी गई है।

5. धारा 181 जिसमें बिना चालक अनुज्ञप्ति वाहन चालक को 500से बढाकर अब 5000 तो वही धारा 182 के तहत चालक अनुज्ञप्ति को आयोग्य घोषित करने के बावजूद वाहन चलाना/कंडक्टर लाइसेंस के लिए अयोग्य घोषित करने के बावजूद कंडक्टर का काम करने में समन500 से बढ़ाकर ₹10000 कर दिया गया है।

6. धारा 182A एमवीआई एक्ट के अध्याय II के उल्लंघन में बनाई गई वाहन के लिए समन एक लाख प्रत्यागमन तो कंपनी पर एक करोड़ का समन देय होगा।

7. धारा 182B के उपधारा 62 ए का उल्लंघन वाहन का Dimension फैला देना जिसमें शमन राशि 5000 से ₹10000 देय होगा।

8. धारा 195 के तहत नशे में ड्राइविंग करना ₹10000 जुर्माना देय होगा।

9. धारा 183 के तहत खतरनाक तरीके से वाहन चालन करना जिसमें पूर्व में ₹400 राशि वसूली जाती थी उसे बढ़ाकर अब एक हजार से दो हजार छोटे वाहनों के लिए,जबकि 2 हजार से 4000 मध्यम वाहनों के लिए देय होगा साथ ही चालक अनुज्ञप्ति जप्त होगी।

10. धारा 184 मे ऐसी कोई गाड़ी ओवर स्पीड से चलाना जो सड़क पर चलने वाले अन्य वाहनों व व्यक्तियों के लिए अलार्म हो उसमे 1000 से 5000 रूपये देय होगा।

11. शराब पीकर गाड़ी चलाने वालो पर धारा 185 के तहत दस हजार से पंद्रह हजार वसूले जायेंगे।

12. धारा 189के तहत स्पीड ड्राइव चालको से 500 की जगह पांच हजार व ओवर लोडेड दुपहिया वाहन चलाने वाले चालक से दो हजार रुपये व तीन माह के लिए चालक लाइसेंस रद्द किया जाएगा।

13. धारा 190 मे
(I) सड़क सुरक्षा के प्रतिकुल के 250 की जगह अब 1500,
(II) प्रदुषण फैलाने के लिए शमन की राशि एक हजार से बढाकर अब दस हजार तो
(III) जीवन के लिए खतरनाक वास्तु का परिवहन के लिए शमन की राशि पूर्व में एक से तीन हजार रुपये थी अब बीस हज़ार रुपये देय होगा।

14. धारा 192(A) बिना परमिट वाहन चालन के लिए शमन पांच हज़ार की जगह अब दस हजार को धारा 194 के प्रवधानो के अनुसार क्षमता से अधिक लोडिंग वाले वाहन पर दो हजार +एक हजार प्रति टन था अब बीस हजार +दो हजार प्रति अधीक जुर्माने टन वसूले जायेंगे तो 194 के तहत ही नाबालिग के वाहन चलाने पर पच्चीस हजार रुपये, तीन साल की जेल व गाडी का निबंधन भी रद्द किया जा सकेगा।
तो धारा 194(D)में बिना हेलमेट वाहन चालक से 100रूपयें की जगह एक हजार देय होगा।
नई नियमावली में शामिल धारा 199(A) अगर कोई अव्यस्क द्वारा वाहन चलाते या इससे अधिनियम के तहत कोई अपराध करते पकड़ा जाता है तो उसके अभिभावक को दोषी माना जाएगा और उनसे पच्चीस हजार तक जुर्माना वसूला जायेगा वही गाड़ी का निबंधन रद्द करते हुए अव्यस्क को 25 वर्षो तक चालक अनुज्ञप्ति नही दिये जाने का प्रावधान है।

LEAVE A RESPONSE

Your email address will not be published. Required fields are marked *